User: Shayariworld

Added 1 year ago

सोचा था तुझपे प्यार लुटाकर तेरे दिल में घर बनायेंगे…..
हमे क्या पता था दिल देकर भी हम बेघर रह जाएँगे.…..

HeartLike SMS #60 - SMS Length: 263
|
Added 1 year ago

हकीक़त कहो तो उनको ख्वाब लगता है ..
शिकायत करो तो उनको मजाक लगता है…
कितने सिद्दत से उन्हें याद करते है हम ………….
और एक वो है ….जिन्हें ये सब इत्तेफाक लगता है…

HeartLike SMS #33 - SMS Length: 406
|
Added 1 year ago

पढ़ने को दिल की इबारत,
नही होती लफ़्ज़ों की ज़रूरत !
नज़रें ही काफ़ी हैं पढ़ने को,
ऐसा कोई चेहरा खूब सूरत!!
कोई हल्का सा शिकन भी,
शिकवा भी पता चलता है!
हो जाए अगर तेरी एक,
उड़ती हल्की सी ज़ियारत !!

HeartLike SMS #30 - SMS Length: 496
|
Added 1 year ago

शायर इक़बाल लिखते है

गलतियों से जुदा तु भी नही मैं भी नहीं,
दोनों इंसान हैं, ख़ुदा तु भी नहीं मै भी नहीं।
"तू मुझे और मैं तूझे इल्ज़ाम देते है" मगर अपने अंदर झांकता तु भी नहीं मैं भी नहीं।
गलतफहमियों ने करदी पैदा दूरियां, वरना फितरत का बुरा तु भी नहीं मैं भी नहीं ।

HeartLike SMS #52 - SMS Length: 670
|
Added 1 year ago

ये जमी ये आसमां तेरे नाम कर दूँगा....
अगर कहोगी तो सारा जहाँ तेरे नाम कर दूँगा ।
पर इस बात से बखूबी वाकिफ हूँ मै....
कोई माँग ऐसी भी ना होगी तेरी जिसे पूरी कर न सकुँगा ॥

HeartLike SMS #19 - SMS Length: 418
|
Added 1 year ago

जिन्हे होगी ताब गैरों के दिल मे रहने की....
वो शौक से ढूँढ ले किसी और आशियाने को ।
हम फकीरों का क्या है..
जिससे करते है ईश्क जिंदगी लूटा देते है उसी एक को ॥

HeartLike SMS #18 - SMS Length: 389
|
« Previous 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 Next »

Jump to Page

advertisements