User: shayari123

Added 1 year ago

मुझसे खता हुई है तुमसे दिल लगाने की!
तुम भी भूल गये हो राहें पास आने की!
फैली हुई दरारें हैं चाहत के दरमियाँ,
कोशिशें नाकाम हैं जख्मों को भुलाने की!

HeartLike SMS #105 - SMS Length: 381
|
Added 1 year ago

चाँद की चादँनी देखी, मौजो की रवानी देखी
मगर जब से कोई रूठा, नहीं कोई जीशानी देखी
खुश रहे वो हमेशा ये दुआ अजा़नो में रही
और दिन महीने साल यूं गुजरते जाये
तबियत से उनकी कामयाबी जिन्दगानी में देखी |

HeartLike SMS #109 - SMS Length: 503
|
Added 1 year ago

*समां हो फागुन का या बारिश हो सावन की,,*

*हसरतें सुलगती हैं......भीगते महीनों में,,,,

HeartLike SMS #89 - SMS Length: 202
|
Added 1 year ago

कवायतें यादों की मान कर चलने लगा हूं कि
फिर कोई चोट सीने में उभर कर आयी है |

HeartLike SMS #83 - SMS Length: 191
|
Added 1 year ago

तुझको लेकर मेरा ख्याल नही बदलेगा...........
साल बदलेगा, मगर दिल का हाल नहीं बदलेगा ।।

HeartLike SMS #73 - SMS Length: 204
|
Added 1 year ago

तेरा हर एक अंदाज
इतना क़ातिलाना हैं
हर रोज शहीद होता हूँ
तेरी हर एक मुस्कान पे..

HeartLike SMS #54 - SMS Length: 207
|
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 Next »

Jump to Page