Shayari SMS [Hindi Ghazals SMS]

Added 2 years ago

"अजनबी रहुँ मैं " "अब खुद के लिए"
"शायद इतना काफी है " "अब जीने के लिए,"
'भुल जाँऊ में बीती बातें " "अा नेवाले कल के लिए"
"शायद इतना काफी है " "अब जीने के लिए,"
"ना करूं मैं अब खवाहिशें" " इक बार फिर टूट जाने के लिए" "
शायद इतना काफी है" " अब जीने के लिए ,"
"ना उम्मीद रहूँ मैं अब सब से " "इस जहाँ में ,"
"शायद ये सही है अब जीने के लिए ....लककी "

HeartLike SMS #52 - SMS Length: 811
|
Added 2 years ago

मेरी जिंदगी के सवालों का एक तू ही बस जवाब है
ये रातें है यही पूछतीं कि कहां तेरा माहताब है
जरा दिल में मेरे झांक लो, उठती कई लहरें यहां
इन धड़कनों में बह रहा तेरे दर्द का सैलाब है
अहसान है तेरा खुदा, जो मिल सकी न कोई दवा
जहां इश्क का ये रोग है, वहीं हुस्न का शबाब है
तन्हाई में वो बहक गया, दुनिया से दूर भटक गया
ये प्याला तेरे प्यार का कोई पी रहा बेहिसाब है

HeartLike SMS #35 - SMS Length: 908
|
Added 2 years ago

सब कुछ है नसीब में, तेरा नाम नहीं है
दिन-रात की तन्हाई में आराम नहीं है

मैं चल पड़ा था घर से तेरी तलाश में
आगाज़ तो किया मगर अंजाम नहीं है

मेरी खताओं की सजा अब मौत ही सही
इसके सिवा तो कोई भी अरमान नहीं है

कहते हैं वो मेरी तरफ यूं उंगली उठाकर
इस शहर में इससे बड़ा बदनाम नहीं है

HeartLike SMS #33 - SMS Length: 714
|
Added 2 years ago

मेरी तन्हाई को गम से आबाद कर गया
तेरा इश्क जो मुझको बरबाद कर गया

घेरती हैं मुझको जो तेरी हसीं जुल्फें
अंधेरों में दिल तेरा अहसास कर गया

ऐ अजनबी किस ओर ले चली हो मुझे
ये आवारगी तो मुझको खराब कर गया

तेरे चेहरे को ख्वाबों में निहारता हूं मैं
मुझे चैन से महरूम ये शबाब कर गया

HeartLike SMS #30 - SMS Length: 708
|
Added 2 years ago

दिल की चंद धड़कनों को रोज बटोरता हूं मैं
उम्र की कुछ कतरनों को रोज जोड़ता हूं मैं
तेरे दर्द की गर्मी भी जिसे पिघला नहीं पाती
उन बर्फीले जख्मों को अब रोज तोड़ता हूं मैं
अपनी हर सांस को जिंदा रखने के लिए
तेरे आसरे पर ये तन्हा जिंदगी छोड़ता हूं मैं
दुनिया की भीड़ में तुझे याद कर सकूं कुछ पल
अजनबी राहों की तरफ कदमों को मोड़ता हूं मैं

HeartLike SMS #33 - SMS Length: 858
|
Added 2 years ago

जबसे देखा है तुमको, तू ही हबीब लगता है
अजनबी तू क्यों दिल के करीब लगता है
तेरे उदास चेहरे पे ये लबों की मुस्कुराहट
देखती हूं तो ये अहसास अजीब लगता है
मेरे पास आकर तुम दामन जो थाम लो
अब जिंदगी में यही अच्छा नसीब लगता है
तूने मेरी दुआ न सुनी तो मर जाऊंगी
तेरे बिन जीवन अब तो सलीब लगता है

HeartLike SMS #24 - SMS Length: 732
|
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 Next »

Jump to Page

advertisements