Shayari SMS [Poetry SMS Hindi]

Added 3 years ago

पिंजरे में बुलबुल की जिंदगानी भी देखी
कांटों में एक गुल की जवानी भी देखी
हर पल दर्द का एक नया मोड़ लेती
मुहब्बत की कमसिन कहानी भी देखी
सौतन की दुश्मनी को भी मात देती
दुनिया की बेरहम कारस्तानी भी देखी
मेरे इश्क को ठुकराने से ठीक पहले
तेरे लब की दिलकश परेशानी भी देखी
कितनी चोटें तूने छोड़ी मेरे दिल पे
तेरे जख्मों की हर एक निशानी भी देखी

HeartLike SMS #47 - SMS Length: 877
|
Added 3 years ago

हम हैं कहीं दूर बैठे तेरी याद में तन्हा
मगर दर्द के सिवा मेरे दिल को क्या हासिल
कितनी बार गुजर गई तुम मेरे करीब से
तेरी परछाई के सिवा आईने को क्या हासिल
ये दिल इतना बेबस है, कुछ कह नहीं सकता
आलमे-खामोशी में आंसुओं को क्या हासिल
दूर हो इतनी फिर भी तेरे आने का शुक्रिया
याद बनके सही, मुझे इतना तो है हासिल

HeartLike SMS #34 - SMS Length: 782
|
Added 3 years ago

कोशिश कर, हल निकलेगा
आज नही तो, कल निकलेगा।
अर्जुन के तीर सा निशाना साध,
जमीन से भी जल निकलेगा ।
मेहनत कर, पौधो को पानी दे,
बंजर जमीन से भी फल निकलेगा ।
ताकत जुटा, हिम्मत को आग दे,
फौलाद का भी बल निकलेगा ।.
जिन्दा रख, दिल में उम्मीदों को,
समन्दर से भी गंगाजल निकलेगा ।
कोशिशें जारी रख कुछ कर गुजरने की,
जो है आज थमा-थमा सा, वो चल निकलेगा.
कोशिश कर, हल निकलेगा
आज नही तो, कल निकलेगा।

HeartLike SMS #34 - SMS Length: 965
|
Added 3 years ago

तुम हो यहीं पे कहीं, तेरा नाम सोचता हूं
इस शहर में तेरे होने के निशान खोजता हूं

इन गलियों से गुजरते हुए मेरी जानेमन अक्सर
तेरे कदमों की आहट सुन वो मकान खोजता हूं

तेरे खयालों से खिंचकर यूं बेखबर सा चलता
अपने इश्क का वो दिलकश मकाम खोजता हूं

मेरी तलाश देखकर कहते हैं ये दुनिया वाले
अपनी मौत का मैं जीते जी सामान खोजता हूं

HeartLike SMS #32 - SMS Length: 831
|
Added 3 years ago

टूटे दिल को अक्ल सिखा दे, किसके बस की बात है
सच्ची मुहब्बत दिल से मिटा दे, किसके बस की बात है

उम्र गुजर जाती है पल-पल उनके यादों के मंजर में
फिर किसी से दिल लगा ले, किसके बस की बात है

रोज मैखाने में जाकर रोते हैं वो जुदाई में
पीकर कोई दिल बहला ले, किसके बस की बात है

लेकर आती हैं बहारें जीवन में फूलों का मौसम
पतझड़ का भी मन महका दे, किसके बस की बात है

HeartLike SMS #30 - SMS Length: 898
|
Added 3 years ago

कल भी सोचा था तेरे बारे में
आज भी खोया तेरे खयालों में
वो उदासी भरा तेरा चेहरा
कितने आंसू थे उन निगाहों में
बेजुबां इश्क का निशां न मिटा
दर्द बनकर है तू मेरी आहों में
तुम मेरे दिल में उतर आई हो
रात कटती है गजल की बाहों में

HeartLike SMS #30 - SMS Length: 573
|
1 2 3 4 5 6 7 Next »

Jump to Page